Home Politics क्यों चीन हुआ मज़बूर पीछे हटने को ? ये है कारण .

क्यों चीन हुआ मज़बूर पीछे हटने को ? ये है कारण .

पिछले कई दिनों से भारत- चीन सीमा विवाद गरमाया हुआ था । पर हाल ही में चीन द्वारा कदम पीछे करने की खबरों से विराम लगा दिया है।
बीते दिनों में गलवान घाटी में चल रहे सीमा विवाद में 20 सैनिकों के शहीद होने की खबर आई थी जिससे पूरा देश सदमे में था और कार्यवाही की मांग कर रहा था। इस बीच दोनों देशों के सेना प्रमुख ने आपस मे बात की पर कई बातचीत के बाद भी कोई हल नही निकला।
चीन के उपकरणों पर पाबंदी 
बता दे कि इस घटना के बाद से ही पूरे देश मे विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया और लोग चीनी उपकरणों के बहिष्कार की मांग करने लगे । इसी बीच देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने फैसला लिया और चाइना के 40 से अधिक एप पर पाबंदी लगा दी साथ कि उसके चल रहे प्रोजेक्ट को भी बंद कर दिया। इस पर चीन ने भारत पर अंतरराष्ट्रीय मानकों के उलंघन का आरोप लगाया पर भारत अपने फैसले पर अड़ा रहा। जिस कारण चीन को आर्थिक नुकसान का डर सताने लगा ।
कोविड महामारी का दबाव
जहां कोविड महामारी के चलते चीन विश्व के कई देशों के आरोपों से घिरा हुआ है। हालांकि चीन सभी आरोपो को खारिज करता रहा है लेकिन इस महामारी का केंद्र वुहान होने से चीन काफी दबाव में है वहीं अमेरिका द्वारा आये दिन चीन पर आरोपो की बौछार होती रहती है । अमेरिका कोरोना महामारी से संक्रमित देशों में सबसे आगे है ।
दक्षिणी चीन सागर पर दबदबा
चीन अपना साम्राज्य विस्तार के लिए चारो और से दबाव बनाता रहता है । हाल ही में एक ट्वीट के जरिये उसने अपनी ताकत का प्रदर्शन किया और दक्षिणी चीन पर अपनी पकड़ को उजागर किया पर कुछ क्षण बाद अमेरिका का जवाब आया “तब भी हमारे दो युद्धपोत वही है ” बता दे कि अमेरिका चीन की हर हरकत की खबर रखता है और उसके चारों और उसने अपनी सेना से निगरानी रखता है।
होंकोंग में विरोध
चीन बाहरी ताकतों के साथ साथ अंदरूनी रूप से भी लड़ रहा है । चीन के होंकोंग में लोग सरकार के खिलाफ सड़को पर आने के लिए मजबूर हो गए है वही चीनी सरकार भी इससे सख्ती से निपट रही है । सरकार के खिलाफ पहले भी आवाज़े उठती रही है पर चीनी सरकार हर बार उसे दबा देती थी पर कोरोना वायरस को लेके काफी समय तक जानकारी छुपाने से वह निशाने पर आ गया है ।
चीन की इन सब यथास्थिति का ही नतीज़ा है कि जहां वह लद्दाख पर अड़ा हुआ था वही उसने गलवान पर अपने पैर पीछे करने में भलाई समझी साथ ही उसने शांति संदेश देने का भी प्रयास किया ताकि अंदरूनी और बाहरी समस्याओं से जूझ रहे चीन को राहत मिल सके।

Must Read

दीपिका पादुकोण के लव आज कल पोस्ट पर आलिया भट्ट ने यह टिप्पणी छोड़ दी.

आलिया भट्ट और दीपिका पादुकोण अक्सर अपने इंस्टाग्राम एक्सचेंज के लिए ट्रेंड करती हैंनई दिल्ली: आलिया भट्ट और दीपिका पादुकोण ने शुक्रवार रात एक...

अयोध्या राम मंदिर पहले से अधिक भव्य है, इसके वास्तुकार कहते हैं

राम मंदिर, अयोध्या: वास्तुकला की नगाड़ा शैली में निर्मित होने वाले मंदिर में दो के बजाय पांच गुंबद होंगे, जैसा कि अधिक संख्या में...

संजू सैमसन के कोच को लगता है आईपीएल “गोल्डन चांस” बुक टी 20 विश्व कप के लिए.

संजू सैमसन के कोच बीजू जॉर्ज का मानना है कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन केरल के स्टार को अगले साल होने वाले टी 20...

14 अगस्त से शुरू होगी राजस्थान विधानसभा, राज्यपाल कलराज मिश्र ने दिए आदेश.

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने बुधवार को अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली राज्य सरकार द्वारा 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने के लिए...

चीन, पाकिस्तान के खिलाफ भारत के राफेल फाइटर जेट्स ने कितना सक्षम बनाया

मल्टी बिलियन डॉलर के सौदे में फ्रांस से खरीदा गया पहला पांच राफेल बुधवार को देश में उतरा।नई दिल्ली: 150 किलोमीटर दूर तक हवा...